Inner Banner

निदेशक का संदेश

आपका स्‍वागत है!

Prof.(Dr). Deepak Raut
डॉ. दीपक राउत , निदेशक NIPHTR

परिवार नियोजन में डॉक्‍टरों, नर्सों और पराचिकित्‍सकों को प्रशिक्षण देने के लिए, एक केंद्रीय प्रशिक्षण संस्‍थान के रूप में परिवार कल्‍याण प्रशिक्षण तथा अनुसंधान केंद्र की स्‍थापना सन् 1957 में की गई। जिसका नाम वर्तमान में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अधिसूचना के आधार पर राष्ट्रिय जन स्वास्थ्य प्रशिक्षण एवं अनुसन्धान संस्थान कर दिया गया |

गत वर्षों के दौरान, संस्‍थान के विस्‍तार एवं कार्यक्षेत्र को एक राष्‍ट्रीय स्‍तर के संस्‍थान के अनुरूप बढ़ाया गया है, जो आईआईपीएस (एक मानद विश्‍वविद्यालय) से संबद्ध स्‍वास्‍थ्‍य संवर्धन शिक्षा (डीएचपीई) के शीर्षतम कार्यक्रम को संचालित कर रहा है। संस्‍थान ने सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य परिचर्या में स्‍नातकोत्तर डिप्‍लोमा (पीजीडीसीएचसी) के छह बैच पूरे किए हैं। राष्‍ट्रीय जनस्‍वाथ्‍य प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्‍थान द्वारा हजारों की संख्‍या में राष्‍ट्रीय एवं अंतर्राष्‍ट्रीय छात्रों को प्रशिक्षित किया गया है। देशभर की प्रशिक्षित स्‍वास्‍थ्‍य जनशक्ति ने सभी के लिए बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य की सुनिश्चितता करने में तथा एमडीजी के तहत विशेष रूप से पांच वर्ष से कम आयु के बच्‍चों की मृत्‍युदर, मातृत्‍व मृत्‍युदर तथा एचआईवी/ऐड्स में कमी लाने में भारी योगदान दिया है।

निदेशक के रूप में, डॉ. दीपक राउत के पिछले 3 वर्षों की कार्यावधि के दौरान हमने जन स्‍वास्‍थ्‍य में शिक्षण, प्रशिक्षण और अनुसंधान में उत्‍कृष्‍टता हासिल करने का प्रयास किया है और अनेक नई पहलें आरंभ की हैं जिनमें नए प्रशिक्षण पाठ्यक्रम, कार्यशालाएं, अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य दिवसों का आयोजन तथा महामारी वाले देशों में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए पीत ज्‍वर टीकाकरण केंद्र खोलना जैसे प्रयास शामिल हैं। संस्‍थान में कौशल विकास कार्यक्रमों को भी प्रारंभ किया गया है, और स्‍वच्‍छता निरीक्षकों (सेनेटरी इंस्‍पेक्‍टर्स) के लिए एक एकवर्षीय प्रशिक्षण कार्यक्रम इस वर्ष पहले ही शुरु किया जा चुका है।

राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य नीति 2017 के उद्देश्‍यों की पूर्ति करने हेतु, हमने चिकित्‍सा और गैर-चिकित्‍सा स्‍नातकों के लिए विभिन्‍न कौशल आधारित क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रमों को कार्यान्वित करने की परिकल्‍पना की है ताकि स्‍थायी विकास लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करने में सार्वभौमिक स्‍वास्‍थ्‍य कवरेज मिशन में सहायता दी जा सके। नई गतिविधियों के लिए अधिक बुनियादी ढांचा एवं जनशक्ति की आवश्‍यकता होगी और हमें इस बात की प्रसन्‍नता है कि स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय, भारत सरकार, ने न्‍यू पनवेल में दूसरे कैम्‍पस का निर्माण कार्य आरंभ करने के लिए वित्त वर्ष 2017-18 में रु. 20.0 करोड़ की मंजूरी प्रदान की है।

शुभेच्‍छु...