Inner Banner

कौशल विकास कार्यक्रम

जनरल ड्यूटी सहायक

प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

परिचय

कौशल आधारित प्रशिक्षण पाठ्यक्रम प्रशिक्षण सामग्रियां हैं जिन्हें वर्तमान व्यावसायिकों के विशिष्ट कौशलों को बढ़ाने या औपचारिक अर्हता नहीं रखने वाले उम्मीदवारों को कौशल प्रदान करने हेतु एक प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराने के लिए विकसित किया गया है।

कौशल आधारित प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रवेश करने हेतु, यह आवश्यक है कि उम्मीदवार को जॉब प्रोफाइल के लिए निर्धारित किए गए प्रवेश मानदंड की पूर्ति करनी होगी। प्रशिक्षणार्थी के प्रशिक्षण और मूल्यांकन से यह सत्यापित होगा कि उम्मीदवार विशिष्ट गतिविधियां चलाने में सक्षम है। इसे औपचारिक योग्यताओं - डिप्लोमा/उपाधियों से नहीं जोड़ा जाना चाहिए, जो किसी विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किए गए हैं।

जनरल ड्यूटी सहायक (जीडीए) प्राय: अस्पताल वातावरण में कार्य करते हैं, लेकिन वे बीमार रोगियों के घरों पर भी सेवा उपलब्ध कराते हैं और उन्हें अर्दली (ऑर्डर्ली), परिचर्या सहायक, परिचर्या सहायता या सहायक जैसे समान नामों से पुकारा जा सकता है। अंतर्राष्ट्रीय रूप से उन्हें प्राय: परिचर्या सहायक या रोगी परिचर्या सहायक कहा जाता है।

जनरल ड्यूटी सहायक (सामान्य रूप से उनके पर्यवेक्षण में) डॉक्टरों, परिचारिकों (नर्सेस), और अन्य स्वास्थ्य परिचर्या प्रदाताओं को अपने रोगियों को विहित स्वास्थ्य परिचर्या सेवाएं उपलब्ध कराने में सहायता करते हैं।

चूंकि वे रोगियों को सेवा प्रदान करते हैं, इसलिए उनके पास विशेष गुण (क्वालिटीज) होना जरूरी होता है, जैसे कि रोगी को सहायता करने का भाव, विनम्रता, प्राथमिक संचार कौशल तथा आदेशों का पालन करना और विनम्रता से पेश आना।

पात्रता मापदंड:

शैक्षिक आवश्यकता - उम्मीदवार विज्ञान के साथ 10+2 होना चाहिए।

आयु सीमा - 18 से 30 वर्ष। (अ.जा./अ.ज.जा. उम्मीदवारों को आयु में छूट भारत सरकार के नियमों के अनुसार दी जाएगी)।

सीटें - प्रत्येक बैच के लिए सीटों की संख्या 10 होगी।

अवधि - 4 माह।

यह अनुशंसा की जाती है कि इस पाठ्यचर्या से विकसित कोई भी कार्यक्रम जनरल ड्यूटी सहायक के रूप में अर्हता प्राप्त करने हेतु न्यूनतम 540 घंटों (168 घंटे थ्योरी, 372 घंटे प्रैक्टिकल एवं क्लिनिकल प्रशिक्षण के लिए) की प्रशिक्षण अवधि होनी चाहिए।